फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है ? सम्पूर्ण जानकारी | Fixed Deposit in Hindi

fixed deposit in hindi

Fixed Deposit in Hindi :- अगर आपके पास कोई ऐसा धन रखा है जिसका आप आने वाले कुछ समय में कोई उपयोग नहीं करने वाले है या आप इसे किसी सुरक्षित जगह निवेश करने के बारे में सोच रहे है तो फिक्स्ड डिपॉजिट में इन्वेस्ट करना आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है जिसमे सेविंग अकाउंट की तुलना में अधिक ब्याज दर मिलता है।

फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है ? / What is Fixed Deposit in Hindi

Fixed Deposit पैसे इन्वेस्टमेंट के सबसे लोकप्रिय तरीको में से एक है। जिसमे जमाकर्ता एक निश्चित समय के लिए एक निश्चित राशि एक निश्चित ब्याज दर पर किसी बैंकिंग या गैर-बैंकिंग संस्थान में जमा करते है। जिसके लिए जमाकर्ता को उस जमा धन राशि पर बैंक द्वारा ब्याज दिया जाता है।

fixed deposit in hindi
FIXED DEPOSIT IN HINDI

Types Of Fixed Deposit / फिक्स्ड डिपॉजिट के प्रकार

फिक्स्ड डिपॉजिट कई प्रकार की होती है और सभी के अपने अपने फायदे होते है। किसी में इंट्रेस्ट रेट ज्यादा मिलता है तो किसी में कम्पाउंडिंग और टैक्स सेविंग के फायदे मिलते हैं। इनमे सबसे पहली FD है।

1- Normal Fixed Deposits:-

जैसा की नाम से पता चल रहा है ये एक सामान्य FD स्कीम है।
1- जिसमे आप एक निश्चित अवधि तक पैसे जमा करते है।
2- यह अवधि 7 दिन से लेकर 10 साल तक हो सकती है।
3- जिसमे आपको सेविंग अकाउंट से अधिक इंट्रेस्ट रेट मिलता है।

2- Senior Citizens’ Fixed Deposits:-

1- यह फिक्स्ड डिपॉजिट 60 वर्ष से अधिक आय के लोगो के लिए होती है।
2- इसमें नार्मल फिक्स्ड डिपॉजिट की तुलना में 0.5 % तक अधिक इंट्रेस्ट मिलता है।

3- Tax-saving Fixed Deposits :-

1- Tax-Saving FD में आप section 80C of the Indian Income Tax Act, 1961 के तहत 1.5 लाख तक का tax deduction claim कर सकते है।
2- तथा इसके साथ इसमें 5 साल का लॉक Lock-in period भी होता है।

4- Cumulative Fixed Deposits:-

1- Cumulative Fixed Deposits में आपको compound interest का फायदा मिलता है।
2- तथा मैच्‍योरिटी के समय compounded interest और मूल धन आपको एक साथ मिलता है।

5- Non-Cumulative Fixed Deposits:-

1- इसमें ब्याज आपको Monthly, Quarterly, Half-Yearly, or Annually, निवेशक की इच्छा अनुसार मिलता है।

6- Flexi Fixed Deposits:-

Flexi Fixed Deposits आपके सेविंग अकाउंट से लिंक होती है।
1- जब भी आपका सेविंग अकाउंट बैलेंस एक निश्चित लिमिट को पार करता है तो वह बाकि रकम सेविंग अकाउंट से फिक्स्ड डिपॉजिट में Automatically ट्रांसफर हो जाती है।
2- और जब भी बैंक में जमा रकम तय की गयी निश्चित लिमिट से कम हो जाती है तो यह फिक्स्ड डिपॉजिट से सेविंग अकाउंट में ट्रांसफर हो जाती है।
ऐसा करने से निवेशक को अधिक मुनाफा होता है।

NOTE :- FIXED DEPOSIT से मिलने वाले ब्याज पर टैक्स लगता है।

Fixed Deposit में आप जमा रकम को मैच्‍योरिटी पीरियड से पहले नहीं निकाल सकते है। अगर किसी कारणवश आपको ऐसा करना पड़ता है। तो आपको इस पर बैंक को Penalty तो देनी पड़ ही सकती है साथ ही FD पर मिलने वाला इंट्रेस्ट रेट भी कम हो जाता है।

फिक्स्ड डिपॉजिट की कुछ प्रमुख विशेषताएं / Some Key Features of Fixed Deposit in Hindi

1- FD स्कीम का मैच्‍योरिटी पीरियड सामान्यतः 7 दिन से 10 साल और ब्याज दर 4% से 8% के बीच होती है।
2- सभी बैंक Senior Citizens के लिए अधिक ब्याज दर देते है। (आम तौर पर 0.5 %)
3- जमाकर्ता FD पर मिलने वाले ब्याज को Monthly, Quarterly or Annual basis पर ले सकता है।
4- फिक्स्ड डिपॉजिट करते समय जो ब्याज दर तय होती है Maturity Period तक वह Fix रहती है।
5- किसी कारणवश Premature Withdrawal से आपके ऊपर 0.5 से 1% तक की Penalty लग सकती है।
6- अलग अलग बैंको में FD का इंटरेस्ट रेट अलग अलग हो सकता है।
7- FD अन्य इन्वेस्टमेंट की तुलना में अधिक सुरक्षित होती है।

फिक्स्ड डिपॉजिट ब्याज दरें / Fixed Deposit Interest Rates :-

जैसा कि हमने आपको बताया है क़ि FD में मिलने वाला इंट्रेस्ट रेट सभी बैंको का एक समान नहीं होता है इसलिए आपको FD अकाउंट खुलवाते समय इंट्रेस्ट रेट के साथ साथ उससे जुडी हुई नियम व शर्तो को भी ध्यान से पढ़ना चाहिए। नीचे दी गई टेबल में आप कुछ प्रमुख भारतीय बैंको की फिक्स्ड डिपॉजिट ब्याज दरें देख सकते हैं।

Name of BankFor General CitizensFor Senior Citizens
State Bank of India5% to 6.8%5.5% to 7.3%
Bank of Baroda4.5% to 6.6%5% to 7.1%
Kotak Mahindra Bank3.5% to 6.9%4% to 7.4%
ICICI Bank4% to 7.1%4.5% to 7.6%
Canara Bank 5% to 6.5%5.5% to 7.0%
Axis Bank3.5% to 7.2%3.5% to 7.85%
Punjab National Bank5.0% to 6.75%5.5% to 7.25%
IDFC Bank4% to 8.5%4.5% to 9%
Bank of India5% to 6.5%5.5% to 7%
HDFC Bank3.5% to 7.3%4% to 7.8%

और अधिक बैंको के इंट्रेस्ट रेट देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

FD कैलकुलेटर / FD Calculator

ऊपर आपको विभिन्न बैंको के FD INTEREST RATE दिए गए हैं जिनके आधार पर आप FIXED DEPOSIT CALCULATOR की सहायता से अपना मैच्‍योरिटी पर मिलने वाला अमाउंट पहले ही देख सकते है।

आप फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट कहाँ खोल सकते है। / Where to Open Fixed Deposit Account

FD कराने के लिए आपके पास सिर्फ सरकारी बैंको के विकल्प नहीं है। आपके पास और भी बहुत से ऑप्शन है जहाँ आप FD करा सकते है और ज्यादा इंट्रेस्ट रेट पा सकते हैं। नीचे आपको कुछ बैंकिंग या एक गैर-बैंकिंग संस्थान बताएं जा रहे हैं जहाँ आप अपना FD अकाउंट खुलवा सकते हैं।

1- Government Banks:- State Bank of India, Punjab National Bank, Bank of Baroda etc.
2- Private Banks:– ICICI Bank, HDFC Bank etc.
3- Small Finance Bank:- Jana Small Finance Bank. AU Small Finance Bank etc.
4- NBFC and HFC:- Bajaj Finserv, DHFL etc.
5- Credit Cooperative Society:- Adarsh Credit Cooperative Society,
Sanjivani Credit Cooperative Society etc.

फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट कैसे खोलें / How to Open a Fixed Deposit Account

अगर आप FD account खुलवाना चाहते है तो आप इसे दो तरीको से खुलवा सकते हैं।

1- OFFLINE METHOD
2- ONLINE METHOD

1- OFFLINE METHOD:-

आप जिस भी बैंक में FD account खुलवाना चाहते है वहां आपको FD ओपनिंग फॉर्म भर कर जमा करना होगा। साथ में जरुरी डाक्यूमेंट्स भी देने होते है। जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड , फोटो etc. एक बार सभी औपचारिकता पूरी हो जाने के बाद आपका अकाउंट खोल दिया जाता है।

2- ONLINE METHOD:-

अगर आपके पास किसी बैंक का सेविंग अकाउंट है तो आप बड़ी आसानी से नेट बैंकिंग का उपयोग करके अपना ऑनलाइन FD account खोल सकते है। इसके लिए आप उस बैंक की official website विजिट कर सकते है या उस बैंक के मोबाइल एप्लीकेशन से भी FD account को ओपन कर सकते हैं।

FD के लाभ / Benefit of FD

1- Low रिस्क इन्वेस्टमेंट
2- अपने इच्छानुसार Fixed Deposit अवधि चुनने की आजादी (7 Days to 10 years )
3- टैक्स सेविंग का Benefit
4- Senior Citizens के लिए ज्यादा ब्याज दर
5- Compounding का फायदा
6- आप ब्याज को Monthly, Quarterly, Half-Yearly, or Annually भी ले सकते है।

Penalty for Premature Withdrawal of Fixed Deposit

Fixed Deposit या किसी अन्य इन्वेस्टमेंट स्कीम में समय से पूर्व पैसे निकालने को Premature Withdrawal कहते है। जिसके लिए आपको एक Penalty देनी पड़ सकती है। इसके लिए अलग अलग बैंको के नियम अलग अलग हो सकते है। आम तौर पर यह Penalty 0.5% से 1% के बीच होती है।

उदाहरण के लिए, मान लीजिए आपने कोई 1 साल के लिए FD OPEN की है जिस पर आपको 8% का वार्षिक ब्याज मिलना तय हुआ है।

और आपने वह FD तीन महीने बाद बंद कर दी। और यदि 3 Month की FD की लिए जो ब्याज दर दी जाती है वह 6% थी। तब आपको 8% की जगह पर सिर्फ 6% का ब्याज मिलेगा।
इसके साथ ही बहुत से Cases में आपको एक Penalty और लग सकती है क्योंकि आपने FD 1 साल के लिए ओपन की थी लेकिन आपने ये सिर्फ 3 महीने बाद ही बंद कर दी। और यदि यह Penalty 1% है तो आपको सिर्फ 5% का इंट्रेस्ट ही मिलेगा।

जाने कितने समय लगेगा आपकी रकम को दोगुना होने में / Rule of 72

किसी भी ब्याज दर पर कैसे पता करे। कि हमारा पैसा कितने समय में दो गुना हो जाएगा। इसके लिए हमे Rule of 72 के बारे में पता होना चाहिए।
इसके अनुसार :- Time = 72 / Interest Rate

उदाहरण :- यदि आपको 9% की वार्षिक दर से ब्याज मिल रहा है और आप जानना चाहते है कि आपका पैसा कितने समय में दोगुना हो जाएगा तो इसके लिए आपको 72 को 9 से भाग देना होगा।
TIME = 72/9 = 8YEARS
Rule of 72 के अनुसार आपको इसके लिए लगभग 8 साल का समय लगेगा।

दोस्तों, उम्मीद करते है आज आपको हमारा पोस्ट फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है ? सम्पूर्ण जानकारी | Fixed Deposit in Hindi पढ़ कर कुछ नया सिखने को मिला होगा। टैंक यू

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *